गुरुवार, 10 मार्च 2016

Thomas Edison की Life का प्रेणादायक प्रसंग




यह Thomas Edison की जिंदगी की असली कहानी है।


एक दिन Thomas Edison घर पर आया और अपनी माँ को एक कागज़ दिया। Edison बोले की मेरे teacher ने कहा था कि मैं यह केवल आपको दूँ।


वह जब पत्र पढ़ती है तो उनकी आँखों से आँसू बहने लग जाते है। बाद में वो Edison को कहती है कि इसमें लिखा है ,"आपका बच्चा बहुत intelligent है। हमारा स्कूल बहुत छोटा है और यहाँ पर इसके लिए इतने प्रतिभाशाली teachers नहीं है जो इसे पढ़ा सके। इसलिए आप इसे घर पर ही शिक्षा दीजिये।"


बहुत वर्षो बाद जब Edison की माता की मृत्यु हो जाती है और Edison सदी के सबसे महान inventors में से एक होते है तब वो वापिस अपने घर आते है और कुछ पुरानी चीजों को देखकर यादें ताजा करते है। अपनी चीजें देखते हुए Edison को  मेज की दराज में एक paper दिखाई पड़ता है।


Paper पर लिखा था : आपका बेटा मानसिक रूप से बीमार है। वह अब school में नहीं आ सकता।


Edison कई घंटो तक रोते रहे। बाद में वो एक किताब लिखते है जिसमे वो लिखते है कि Thomas Edison मानसिक रुप से कमजोर था लेकिन उसकी महान माता ने उसे सदी का सबसे Genius Person बना दिया।


Moral : हमे कभी भी ज़िंदगी में हार नहीं माननी चाहिए। हमेशा आगे बढ़ने के लिए प्रयास करते रहना चाहिए। अगर Edison की Mother हार मान लेती तो क्या Edison ऐसे बन सकते थे ?


हम में से कोई भी ऊपर से ही सब कुछ बनकर नहीं आता ,बल्कि हम जो करते है वो ही बन जाते है। अगर हम सोचते रहे की हम यह काम नहीं कर सकते तो उसका यह ही मतलब कि हम नहीं कर सकते ,लेकिन अगर हम कुछ करने का सोच ले और सोचें की करके ही रहेंगे तो फिर हम वो कर सकते है। सब कुछ हमारी सोच पर निर्भर है इसलिए बुरे time में भी हमेशा positive सोच ही रखे। ऐसा ही Edison की mother ने किया, उन्होंने हार नहीं मानी और अपने बेटे को सबसे intelligent बनाकर रही।

Share:

0 टिप्पणियाँ:

एक टिप्पणी भेजें