खुशियों की महक

खुशियों की महक


खुशियों की महक भी फूलों की ही तरह है।

जैसे फूल किसी दूसरे को भेंट करने से
उसकी खुशबू हमारे हाथो में रह जाती है।

वैसे ही दूसरों में खुशिया बांटते-बांटते ,
उनकी झलक हमारी जिंदगी में भी आ ही जाती है ।

इसलिए जब भी मौका मिले दूसरों को खुशिया देते रहिये ,सभी की मदद करते रहिये । जो दूसरों की जिंदगी संवारता है ,उसकी जिंदगी तो अपने आप ही संवर जाती है।

अगर आप ज्ञानपूंजी की तरफ से रोजाना प्रेरणादायक विचार अपने व्हाट्सप्प पर प्राप्त करना चाहते है तो 9803282900 पर अपना नाम और शहर लिखकर व्हाट्सप्प मैसेज करे.

Spread the love

Leave a Comment