चित्र नही, चरित्र निखारे

Chitra Nahi, Charitra Nikhaare


खूबसूरत कपड़े, हमारी सुंदरता को
और भी अधिक निखार देते है,

लेकिन हमारा खूबसूरत रवैया,
हमारे व्यक्तित्व को निखारता है।

दोस्तों, सभी सोचते है कि खूबसूरत कपड़े पहनने से उनकी सुंदरता अधिक हो जाती है, सही भी है, क्योंकि बढ़िया कपड़े, कुछ तो बढ़िया दिखने लायक बना ही देते है।

लेकिन अगर कोई ऐसा इंसान हो ,जिसे बोलने की बिल्कुल भी तमीज़ नही, उसने सुंदर कपड़े पहने हुए हो तो पहले तो वह सभी को बढ़िया लगेगा, लेकिन जब उससे बात करेंगे और एकदम से बेकार तरीके से उत्तर देगा,तब उसका असल बर्ताव पता चलेगा और फिर उससे बात करने तक का मन न करेगा, क्यों सही कहा न?

तो फिर यह सुदंर कपड़े किस काम के?

लेकिन इसके विपरीत अगर कोई ऐसा इंसान हो, जिसने कपड़े तो चाहे ढंग के न पहने हो,लेकिन उसका बर्ताव और सबसे बात करने का ढंग एकदम बढ़िया हो, दयालु हो और समझदार के साथ-साथ मददगार भी हो, तो ऐसा व्यक्ति अपने हल्के कपड़ो के बावजूद भी सबका दिल जीत लेगा और सभी उसकी प्रशंसा ही करेंगे।

क्यों दोस्तों यह भी सही कहा न?

दोस्तों, बस आपको इतना ही समझाना चाहता हूँ कि किसी की बाहरी सुंदरता पर मत जाईये कभी भी ,वह अंदर से कैसा है, यह अधिक मायने रखता है, न कि यह कि बाहर से कैसा है।

अगर आप मे से कोई युवा है,और आपके घरवालो की आर्थिक हालत अच्छी नही, लेकिन फिर भी आपके घर वाले कड़ी मेहनत करके आपको पढ़ा-लिखा रहे है, लेकिन आपके दोस्त आपको किसी कारणवश बोलते-टोकते रहते है और खर्च करने को कहते है, तो आप उनकी बातों में न आये, बल्कि अपने घर वालो की हालत को समझे और ऐसे दोस्तो से दूरी बनाकर ही रखे, जो आपको नही समझ पाते। क्योंकि सच्चा दोस्त वही होता है जो दोस्त के हालातों को समझ सके और अगर कोई आपको आपके पहरावे के कारण ताने मारता रहता है तो उसकी बातों में न आये और उससे दूरी ही रखे, क्योंकि आपके माता-पिता आपको एक अच्छा इंसान बनाना चाहते है, जिससे आपका चित्र नही बल्कि चरित्र निखरे।

उम्मीद है दोस्तों, यह आर्टिकल लिखना सार्थक रहा होगा, अगर आपको यह पसन्द आया हो तो कमेंट करके हमे जरूर बताएं और GyanPunji पर प्रकाशित अन्य लेख/कहानियां/विचार भी पढ़ते रहे। हमारा फेसबुक पेज लाइक करना मत भूले और इसे अपने दोस्तों के साथ भी जरूर शेयर करे।

अगर आप ज्ञानपूंजी की तरफ से रोजाना प्रेरणादायक विचार अपने व्हाट्सप्प पर प्राप्त करना चाहते है तो 9803282900 पर अपना नाम और शहर लिखकर व्हाट्सप्प मैसेज करे.

Spread the love

3 thoughts on “चित्र नही, चरित्र निखारे”

  1. बिलकुल सही बात है निखील जी हमारा हमें चित्र नही चरित्र देखना चाहिऐ

    Reply
  2. बिलकुल सही कहा आपने हमें चित्र नहीं चरित्र निखारने का प्रयास करना चाहिए |सार्थक पोस्ट

    Reply

Leave a Comment