हमारी कमियां भी चेहरे के दाग की तरह ही है

Hmari Kamiya Bhi Chehre Ke Dag Ki Tarah Hi Hai, Inspirational Quotes In Hindi

जब आईना हमे हमारे चेहरे का दाग दिखाता है,
तब हम आईना नही तोड़ते,
बल्कि दाग साफ करने का सोचते है।

ठीक ऐसे ही, जब कोई हमे हमारी कमी बताए,
तो उस पर गुस्सा नही होना चाहिए,
बल्कि अपनी कमी दूर करने का सोचना चाहिए।

दोस्तों ,हम इंसान भी कैसे अजीब है न? जब चेहरे पर कोई दाग दिखे तो चेहरा साफ करने की सोचेंगे ,लेकिन जब चरित्र पर कुछ लगा दिखे, तो उसपर गुस्सा करेंगे जिसने हमे हमारा प्रतिबिम्ब दिखाया होगा।

दर्पण अगर हमे हमारे चेहरे पर दाग दिखाए तो हम चेहरा साफ करते है और जब कोई इंसान हमे हमारी गलती के बारे में बताए तो उस इंसान पर गुस्सा करते है। अखिर, वो इंसान भी तो हमे हमारे चेहरे का प्रतिबिंब ही दिखा रहा है, तो उसपर गुस्सा कैसा और किसलिए? बल्कि हमे हमारी कमियों को सुधारना चाहिए और ऐसे व्यक्ति के अहसानमंद होना चाहिए कि उसने हमें निखरने के बारे में कहा। क्योंकि जैसे गन्दा चेहरा लेकर अगर बाजार में जाये तो बेइज्जती लगती है, उससे भी गुणा अधिक बेइज्जत हमे हमारे चरित्र की कमिया करती है।

इसलिए दोस्तो, ऐसे व्यक्ति पर गुस्सा मत होइए बल्कि उसके शुक्रगुजार होईये, जिसने आपको निखरने में आपकी मदद करी।

तो दोस्तों, आपको यह आर्टिकल कैसा लगा, हमे कमेंट करके जरूर बताएं और अगर पसन्द आया हो तो शेयर भी जरूर करे। फेसबुक पेज लाइक करना मत भूले।

अगर आप ज्ञानपूंजी की तरफ से रोजाना प्रेरणादायक विचार अपने व्हाट्सप्प पर प्राप्त करना चाहते है तो 9803282900 पर अपना नाम और शहर लिखकर व्हाट्सप्प मैसेज करे.

Spread the love

5 thoughts on “हमारी कमियां भी चेहरे के दाग की तरह ही है”

  1. बहुत खूब लिखा है |, सच तो यही है की आज का जीवन कुछ इस तरह हो गया है जैसा की किसी वक़्त ग़ालिब ने कहा था ” बार बार मई यही पाप करता रहा , धूल चेहरे पे थी और आइना साफ़ करता रहा”

    बधाई एवं शुभकामनाएं

    Reply
  2. Sir awesome example, world is good if we want to make it good

    जब आईना हमे हमारे चेहरे का दाग दिखाता है,
    तब हम आईना नही तोड़ते,
    बल्कि दाग साफ करने का सोचते है।

    Reply

Leave a Comment