कैसे भूलों उन वीरों की शहादतों को

कैसे भूलों उन वीरों की शहादतों को,
जिन की खातिर आजाद है आज यह भारतभूमि।

जज्बा था उन शूरवीरो में कुछ ऐसा,
शहादत का कफन था जिनके लिए प्रीतम जैसा।

सांस ले रहे है अगर आजादी की आज हम,
तो मेहरबान है उन कुर्बानियों के,
जो झुके न कभी किसी के सामने।

नमन करता हूँ उन दीवानों को,
जो दीवाने थे इस हिन्द के।

न था पैसो से प्यार
और न ही था प्यार अपनी जिंदगानी से,
प्यार था तो सिर्फ इस भूमि की आजादी से।

कैसे भूलों मैं उन वीरो को शहादतों को,
जिन की खातिर आज ले रहे है हम आजादी की सांस।।

GyanPunji.com देश की खातिर अपनी जान हंस-हंस कुर्बान करने वालो को नमन करता है और सभी देशवासियों को स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक बधाई हो।

जय हिन्द।।

अगर आप ज्ञानपूंजी की तरफ से रोजाना प्रेरणादायक विचार अपने व्हाट्सप्प पर प्राप्त करना चाहते है तो 9803282900 पर अपना नाम और शहर लिखकर व्हाट्सप्प मैसेज करे.

Spread the love

Leave a Comment