कितना खुशकिस्मत है न 2018 साल, जोकि…

दोस्तो, सभी कह रहे है कि अब तो साल भी जवान हो गया, इसे भी 18वा वर्ष लग गया। Khushkismat Hai Saal 2018

लेकिन कितना खुशकिस्मत है न यह साल, 18साल की उम्र में भी पहला दिन सोमवार का ही लाया। ऐसा पवित्र और पूजनीय दिन, जो हर शिव भक्त की जुबां पर “जय भोले” ला ही देता है।

जिसकी शुरुआत ही भोले के दिन और नाम से शुरू हो, वह आगे चलकर कितना बढ़िया होगा, यह आप सभी सोच ही सकते है।

अगर हर युवा अपनी जवानी की शुरुआत भक्ति से करे और उस भक्ति की राह पर चलते हुए सभी लोगो की निष्काम भाव से सेवा करे तो वो दिन दूर नही जब सभी खुशहाल रहेंगे।

लेकिन आजकल क्या हो रहा है? जब किसी भी अच्छी/नई चीज की शुरुआत हो, जैसे नया साल या जन्मदिन ही लगा लो, आजकल लोग क्या करने लगे मादक पथार्थ ले लेने , नशा कर लेना, मांस/मच्छी खा लेनी, भला मादकता से या किसी अन्य की जान लेकर कोई कैसे खुशी मना सकता है?

आज के हमारे देश की सबसी बुरी बात यही है कि भारत पश्चिमी सभ्यता की तरफ खींचा जा रहा है जबकि पश्चिमी सभ्यता भारतीयता की तरफ आकर्षित हो रही है क्योंकि वह समझ रहे है क्या सही है और क्या गलत? पर हम, हमारी सभ्यता के ही खिलाफ होते जा रहे है।

कोई समय था, जब परिवार इकठ्ठा बैठता था, लेकिन अब तो परिवार वाले खुद ही खुशी से कहते है, मेरा बेटा/बेटी नया साल मनाने यहां (किसी भी दूर जगह) गए थे। है न हंसी वाली बात? परिवार का बन्दा जब खुशी के मौके पर ही घर न हो, तो क्या फायदा?

कल को अब ऐसे दिन भी देखने को मिल सकते है जब लोग कहेंगे उस बन्दे की शादी में तो उसका सका भाई भी मौजूद था और इसे बड़ी हैरानी से देखा जाएगा कि, हैं! उसकी शादी में उसका सका भाई भी आया?

खैर दोस्तों बात किधर की किधर चली गई। नया साल है, एन्जॉय करे, लेकिन असल एन्जॉय तो उन्ही का होगा, जो इस नए साल की शुरुआत भगवान के नाम से करेंगे और सभी का भला सोचने/करने का दृढ़ निश्चय करेंगे।

अगर किसी ने नशे से या किसी जीव को नुकसान पहुंचाकर शुरुआत की हो तो आप सब अपने आप ही समझ जाएं, जिसकी शुरुआत ही खराब, वह आगे कैसे सही हो पायेगा?

लेकिन हम तो यही चाहते है, सब राजी-खुशी रहे और इसीलिए यह टॉपिक आज लिखा, बस खुश रहिये और सभी को खुश रखिये तथा सबकी मदद करते रहे।

आप सब मित्रों को 2018 की बहुत-बहुत शुभकामनाएं। हमेशा अच्छे और सच्चे बने रहने का दृढ़ निश्चय कर ले तो फिर यह साल क्या पूरी जिंदगी की खुशहाल रहेगी।

दोस्तों आर्टिकल पसन्द आया हो तो शेयर करना मत भूले और कमेंट करके जरूर बताएं आपको कैसा लगा?

अगर आप ज्ञानपूंजी की तरफ से रोजाना प्रेरणादायक विचार अपने व्हाट्सप्प पर प्राप्त करना चाहते है तो 9803282900 पर अपना नाम और शहर लिखकर व्हाट्सप्प मैसेज करे.

Spread the love

2 thoughts on “कितना खुशकिस्मत है न 2018 साल, जोकि…”

Leave a Comment