समय और समझ में 36 का आंकड़ा क्यों है?

दोस्तों क्या आपको पता है कि समय और समझ में 36 का आंकड़ा है? अगर नहीं पता, तो आईये हम आपको बताते है कि ऐसा क्यों है ? (Samay Aur Samjh Me 36 Ka Aankda)

समय और समझ में 36 का आंकड़ा है
समय पर समझ नहीं आती
और जब समझ आती है, तब समय नहीं होता.

लेकिन अगर समय और समझ दोनों एकसाथ मिलते है,
तो वह लोग बहुत खुशकिस्मत होते है.

दोस्तों अगर आपके पास समय और समझ दोनों है तो फिर तो आप बहुत खुशकिस्मत है.लेकिन अगर अभी जिंदगी का अच्छे से तजुर्बा नहीं है तो जो भी आपको आपके बड़े या करीबी मित्र समझाये, उनकी बात अच्छे से सुने, समझे और उस पर विचार करे क्यूंकि उनको आपसे अधिक experience है और हो सकता है उन्हें भी समय रहते समझ न आयी हो और वह आपके भले के लिए ही आपको बोलते हो, जो भी सलाह वह देते होंगे.

इसलिए हमेशा अपने करीबी लोगो की बात ध्यान से सुने, कही आपको भी बाद में आगे चलकर पछताना न पड़े.

अभी तो लगता होगा कि आप जो भी कर रहे है वह एकदम सही है, लेकिन एक बार फिर से उस पर अच्छे-से विचार कर लीजियेगा कि क्या सच में आप सही ही कर रहे है?

जानिए चाणक्य के अनुसार असल सौंदर्य क्या है?

अगर आप ज्ञानपूंजी की तरफ से रोजाना प्रेरणादायक विचार अपने व्हाट्सप्प पर प्राप्त करना चाहते है तो 9803282900 पर अपना नाम और शहर लिखकर व्हाट्सप्प मैसेज करे.

Spread the love

1 thought on “समय और समझ में 36 का आंकड़ा क्यों है?”

Leave a Comment