संगत का असर सब पर पड़ता है

संगत का असर सब पर पड़ता है (Sangat Ka Asar Sab Par Padta Hai)

jaisi hogi sangat vaisa hi bnega insan

पानी की बूंद जब गर्म तवे पर पड़ती है
तब वह मिट जाती है

वही पानी की बूंद जब कमल के फूल पर पड़ती है
तब वह चमकने लगती है

और जब वही पानी की बूंद सीप में जा गिरती है
तब वह मोती बन जाती है।

बूंद तो पानी की ही है
बस फर्क संगत का है।

दोस्तों संगत न सिर्फ हम इंसानों पर, बल्कि सृष्टि की हर एक वस्तु पर प्रभाव डालती है। ऐसे ही कहावत नही बनी कि “खरबूजे को देखकर खरबूजा रंग बदलता है।” संगत का प्रभाव हर एक वस्तु पर पड़ता है सिर्फ कुछ ही अछूते सच्चे साधु स्वभाव के लोग होंगे जिनपर बुरी संगत का असर न पड़े, वर्ना हर एक पर संगत का फर्क पड़ता है। जो साधु स्वभाव के होते है संगत का असर तो उनपर भी पड़ता है लेकिन उन में इतना संयम होता है कि वह दूसरों से सिर्फ और सिर्फ अच्छा ही सीखते है जो भी बुरा हो, उसे मन मे उतरने तक नही देते।

लेकिन अधिकतर लोग संगत से अछूते नही रह पाते। भले ही किसी भी प्रकार का और किसी भी तरह की सोच का बन्दा है।

पानी की भी बूंद संगत के प्रभाव में आकर उस जैसी ही बन जाती है। गर्म तवे पर पड़े तो गर्मी उसे नष्ट कर देती। यह ऐसे ही है जैसे अगर हम किसी क्रोध वाले या किसी बुरी प्रवृति वाले की संगत में आ जाए तो उसकी ऐसी संगत हमे भी एक-न-एक दिन नष्ट जरूर करेगी।

और जब पानी की वही बूंद कमल पर पड़ती है तो वह चमकने लगती है। जैसे अगर हम किसी सज्जन पुरुष की संगत में आ जाये तो हमारा चरित्र भी एक दम चमकने-दमकने लगेगा।

और वही पानी की बूंद जब सीप में जा गिरती है तो उसकी कीमत ही कुछ और हो जाती है और वह हमेशा हमेशा के लिए कीमती बन जाती है। जैसे कि अगर हम किसी सच्चे साधु की संगत में आ जाये जो हमे न सिर्फ इस जीवन से तारे बल्कि उसका प्रभाव अगले जन्मों तक भी हम में रहे।

दोस्तों जीवन मे संगत हमेशा सोच-समझकर चुने और बुरी संगत से हमेशा बचकर रहे। और एक बार सोचिये जिस संगत को आपने चुना है, क्या वह आपका उद्धार कर सकती है या नही? और बात सिर्फ संगत चुनने तक की ही नही, बल्कि संगत बनाने की भी है, अगर आपमे अच्छे गुण है तो आप यह ठान लीजिये कि उन गुणों का विस्तार आपने अपने जानने वालों में भी करना है। पर अगर किसी से कुछ अच्छा सीखने को मिले तो उससे वह भी गृहण कर लीजिए।

तो दोस्तों आपको GyanPunji की यह रचना कैसी लगी? अगर पसन्द आयी हो तो कमेंट करके अपना सुझाव देना हमे न भूले और इसे अपने दोस्तों के साथ भी जरूर शेयर करें। आगे भी ऐसे ही आर्टिकल्स प्राप्त करते रहने के लिए email subscription लेना न भूले।

अगर आप ज्ञानपूंजी की तरफ से रोजाना प्रेरणादायक विचार अपने व्हाट्सप्प पर प्राप्त करना चाहते है तो 9803282900 पर अपना नाम और शहर लिखकर व्हाट्सप्प मैसेज करे.

Spread the love

7 thoughts on “संगत का असर सब पर पड़ता है”

  1. बिल्कुल सही है। संगत का असर पड़ता ही है। मेरा अनुभव भी यही कहता है।

    Reply

Leave a Comment