मुसीबतें कमजोर बनाती है या फिर मजबूत?

दोस्तों जिंदगी में एक बात हमेशा याद रखना –

मुसीबतें तो सभी लोगो पर आती है ,
लेकिन यही मुसीबतें कईयों को
बिखेर देती है और
कईयों को निखार भी देती है ।

दोस्तों यह हम पर निर्भर है कि हम मुसीबतों का सामना किस प्रकार और कैसे करते है ? मुसीबतें तो सभी लोगों पर आती है ,ऐसा कोई नहीं होगा जिसकी जिंदगी में कोई मुसीबत न आयी हो ,लेकिन यही मुसीबतें अगर लोगो को बिखेरती है तो यही कई लोगो को निखार भी देती है । फर्क सिर्फ हमारी सोच और हमारे कर्मों का है , हम उन मुसीबतो में कैसा और क्या सोचते है और कैसा और क्या करते है ? जो हिम्मत और होंसला हार जाते है मुसीबतें उन्हें हरा देती है लेकिन जो लोग इन्ही मुसीबतों में भी इनका डटकर सामना करते है ,वही लोग कुछ अलग बनकर हम सबके सामने आते है और एक आम इंसान से ख़ास इंसान बन जाते है ।

उन लोगो में और हम में कोई फर्क नहीं होता ,फर्क सिर्फ होंसले और हिम्मत का है । कुछ तो ऐसे लोग भी होते है जिनके पास कुछ भी नहीं होता लेकिन फिर भी हिम्मत न हारकर सभी के लिए मिसाल कायम कर देते है । आपने Nick Vujicic का नाम तो सुना ही होगा ,वह भी हम सभी के लिए एक मिसाल है ,जिनके न हाथ है और न ही टाँगे ,लेकिन फिर भी एक सफल इंसान बन गए । क्या इन्होने अपनी जिंदगी में हार मान ली ? अगर यह भी हिम्मत हार जाते तो क्या आज यह इस मुकाम पर होते जिस पर आज है? इनके साहस और अटूट मेहनत कि वजह से ही आज यह पूरी दुनिया में अपनी एक अलग पहचान बना पाए और क्यूंकि इन्होने जिंदगी में आयी विपत्तियों को चुनौती पूर्ण स्वीकार किया और उन सभी मुसीबतों को पार करते हुए वह किया जो यह करना चाहते थे और अपनी कड़ी मेहनत के कारण एक सफल इंसान बन गए ।

इसलिए दोस्तों अगर जिंदगी में कभी भी कोई भी मुसीबतें आये तो हिम्मत और होंसला न हारिये ,और कभी यह न कहिये कि मेरे पास यह नही, वो नही, आपके पास सांसे तो है न? जब तक सांसे है,तब तक सब कुछ है। जब आप मुसीबतों का सामना होंसले के साथ करना सीख जाएंगे तब आप जिंदगी में कभी भी बिखरेंगे नहीं ,बल्कि हमेशा निखरते ही जाएंगे 

अगर आप ज्ञानपूंजी की तरफ से रोजाना प्रेरणादायक विचार अपने व्हाट्सप्प पर प्राप्त करना चाहते है तो 9803282900 पर अपना नाम और शहर लिखकर व्हाट्सप्प मैसेज करे.

Spread the love

5 thoughts on “मुसीबतें कमजोर बनाती है या फिर मजबूत?”

  1. कहते है कि समस्या उतनी ही बडी होती है जितनी जगह जिन्दगी में हम उसे देते है । आपने बिल्कुल सही कहा समस्याएं या मुसीबते आने पर हौसलो के साथ उसका सामना करना चाहिए । यह हमारे ऊपर ही निर्भर करता है कि हम मुसीबतो से हारते है या उन्हें हराते है ।

    Reply
  2. Hi, I am thankful to you for sharing this awesome article with this helpful knowledge. this is the blog that provide the lots of good information thanks for provide such a good information.

    Reply

Leave a Comment