निंदा से मत डरो, लेकिन

Ninda Se Mat Daro


जीवन में कभी भी अपनी निंदा से मत डरिये ,
अगर डरना ही है तो निंदनीय कार्य करने से डरिये ।

निंदनीय कार्य ही हमे नीच बनाते है ,अगर हम कोई भी निंदनीय कार्य न करे तो फिर अगर कोई चाहे जितनी मर्जी हमारी निंदा कर ले ,हमे कोई फर्क नहीं पड़ना चाहिए । क्यूंकि जब हम कोई गलत काम ही नहीं कर रहे तो लोग हमारी निंदा भी किस बात की करेंगे ? अगर फिर भी हमारी बुराई कर रहे है तो समझ लीजिये कि अब आपने कुछ ख़ास करना शुरू कर दिया है ,जो दुसरो से सेहन नहीं हो रहा ।

अगर आप ज्ञानपूंजी की तरफ से रोजाना प्रेरणादायक विचार अपने व्हाट्सप्प पर प्राप्त करना चाहते है तो 9803282900 पर अपना नाम और शहर लिखकर व्हाट्सप्प मैसेज करे.

Spread the love

7 thoughts on “निंदा से मत डरो, लेकिन”

  1. Excellent advise. If people follow them sincerly, then there will be peace in the world
    A person wiil live peacefully.

    Reply

Leave a Comment